नई दिल्ली। भारत के आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत के बयान के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने शनिवार को पलटवार करते हुए परमाणु हमले की धमकी दे दी। वहीं पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर से भारतीय सेना को चुनौती देते हुए कहा है कि भारत को पाकिस्तान के सामने किसी भी तरह की कोई गुस्ताखी नहीं करनी चाहिए क्योंकि पाकिस्तान भी परमाणु हथियारों से लैस है और इसका एकमात्र मकसद पूर्व से आने वाला खतरे को रोकना है।

पाकिस्तानी सेना का यह बयान भारतीय सेना के प्रमुख जनरल बिपिन रावत द्वारा दिए गए उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि सेना पाकिस्तान के 'परमाणु हथियारों के झांसे' का जवाब देने के लिए तैयार है। सरकार के कहने पर किसी भी अभियान के लिए सीमा पार से आ रहे चुनौती के लिए हम तैयार हैं।

पाक मंत्री ने किया था ये ट्वीट -

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने ट्वीट कर कहा है, 'भारतीय सेना प्रमुख का बयान बेहद गैर जिम्मेदाराना है, ये परमाणु हमले को निमंत्रण देने वाली बात है। यदि वे (भारत) ऐसा चाहते हैं तो हम भी इसके लिए तैयार हैं। इंशाअल्लाह... जल्द ही सेना प्रमुख की गलतफहमी दूर हो जाएगी।'

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने भी किया ट्वीट -

वहीं दूसरी तरफ, भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के बयान के बाद पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने भी ट्वीट कर कहा है, 'हम इस मामले को हल्के में नहीं लेंगे। वे पाकिस्तान को लेकर गलत आंकलन न करें। भारतीय सेना की ओर से धमकी और गैर जिम्मेदाराना बयान ये साबित करता है कि वे डरे हुए हैं। पाकिस्तान अपनी रक्षा करने में सक्षम है।'

इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने जनरल रावत के बयान पर जियो टीवी से बातचीत में कहा, 'इस तरह का बयान उनके कद के लोगों के लिए शोभनीय नहीं है।' उन्होंने कहा, 'मेरा मानना है कि चार स्टार पा चुके अनुभवी सेना प्रमुख को बयान देने में परिपक्वता दिखानी चाहिए।'

यह कहा था बिपिन रावत ने -

भारत के सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने 12 जनवरी को कहा था कि अगर सरकार कहे तो सेना पाकिस्तान के परमाणु झांसों को धता बताने और किसी भी अभियान के लिए सीमापार करने को तैयार है। जनरल रावत ने कहा कि हम पाकिस्तान की परमाणु हथियारों की बातों को चुनौती देंगे।

उन्होंने कहा, 'अगर हमें वाकई पाकिस्तानियों का सामना करना पड़ा और हमें ऐसा काम दिया गया तो हम यह नहीं कहेंगे कि हम सीमा पार नहीं कर सकते क्योंकि उनके पास परमाणु हथियार हैं। हमें उनकी परमाणु हथियारों की बातों को धता बताना होगा।'

सेना प्रमुख ने कहा, 'हम प्रस्ताव के विभिन्न आयामों का अध्ययन रहे हैं।' उनसे यहां एक संवाददाता सम्मेलन में सीमा पर हालात बिगड़ने की स्थिति में पाकिस्तान द्वारा उसके परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की संभावना पर सवाल पूछा गया था।