वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने धमकी दी है कि अगर ईरान अमेरिका के साथ युद्ध लड़ता है, तो आधिकारिक तौर पर उसका अंत हो जाएगा। अमेरिका को फिर कभी धमकी मत देना। ट्रंप की इस धमकी के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या अमेरिका और ईरान क्या अब युद्ध के अंतिम मुहाने पर पहुंच चुके हैं। हालांकि, ट्रंप ने यह साफ नहीं किया है कि धमकी से उनका अर्थ क्या है।

वार्ता के लिए तैयार होने की बात कहने के कुछ ही दिन बात अमेरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को सीधा खतरा पेश करते हुए सुझाव दिया कि यदि वह अमेरिका के हितों पर हमला करता है, तो इस्लामिक गणराज्य नष्ट हो जाएगा। हालिया टकराव, पिछले हफ्ते सऊदी की तेल संपत्तियों पर हमले और इराक की राजधानी बगदाद में भारी किलेबंदी वाले ग्रीन जोन में कई सरकारी इमारतों और दूतावासों को क्षेत्र में गोलीबारी के बाद बढ़ा है।

इराकी सेना ने कहा कि रॉकेट हमले में कोई हताहत नहीं हुआ और इसकी जिम्मेदारी का कोई दावा नहीं किया गया है। बताते चलें कि इस महीने की शुरुआत में ईरान और अमेरिका के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए अमेरिका ने इस क्षेत्र में एक विमान वाहक पोत और बी -52 बॉम्बर प्लेन तैनात कर दिया था। इसके साथ ही एम्फीबियस असॉल्ट शिप और एक पैट्रियट मिसाइल बैटरी को भी क्षेत्र में भेजा गया है।

वाशिंगटन में एक खुफिया रिपोर्ट आने के बाद दोनों देशों के बीच संभावित सैन्य टकराव को लेकर बहस छिड़ी हुई है। ऐसे में ट्रंप के इस ट्वीट ने अमेरिका में इस डर को और बढ़ा दिया है कि दोनों देशों में युद्ध हो सकता है। अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के महत्वपूर्ण संस्थानों और संपत्ति को निशाना बना कर ईरान हमला कर सकता है।

एक रिपोर्ट में अमेरिका के सुरक्षा अधिकार के हवाले से दावा किया गया है कि फारस खाड़ी में ईरानी व्यापारिक जहाजों की तस्वीरों को देखकर लगता है कि व्यापारिक जहाज की आड़ में युद्धपोत और मिसाइल ले जाया जा रहा है। हालांकि, अमेरिकी सरकार ने अब तक इसका कोई सबूत नहीं दिया है और हथियार ले जाने के अमेरिका के दावे की पुष्टि नहीं हुई है।

बताते चलें कि अमेरिका और ईरान के बीच परमाणु हथियारों को लेकर तनाव बना हुआ है। बीते दिनों ईरान पर प्रतिबंध लगाते हुए अमेरिका ने कई देशों को उनसे कारोबारी रिश्ते तोड़ने को कहा था, जिसमें भारत भी शामिल है। अमेरिका ने भारत के ईरान से तेल खरीदने की छूट को भी खत्म कर दिया था।