वाशिंगटन। अमेरिका ने ब्रिटेन में पूर्व रूसी जासूस और उसकी बेटी पर घातक नर्व एजेंट (रसायन) से हमले को लेकर रूस की निंदा की है। अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने रूस को दुनिया में अस्थिरता पैदा करने वाला गैरजिम्मेदार बल बताया है।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह ब्रिटेन में पूर्व रूसी जासूस सर्जेई स्क्रीपल (66) और उनकी बेटी यूलिया (33) पर सेना द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले नर्व एजेंट से हमला किया गया था। वे गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती हैं। यह रसायन रूसी सेना ने 1970-1980 के दशक में विकसित किया था। स्क्रीपाल ब्रिटिश विदेशी खुफिया एजेंसी के मुखबिर हैं। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने सोमवार को संसद में कहा था कि इस हमले के पीछे रूस का हाथ होने की पूरी संभावना है।

टिलरसन ने कहा कि हमें ब्रिटेन की जांच और निष्कर्ष पर पूरा विश्वास है कि इस हमले के पीछे रूस का हाथ है। अमेरिका इस मामले में ब्रिटेन के साथ एकजुटता के साथ खड़ा रहेगा। यूक्रेन से सीरिया और अब ब्रिटेन तक रूस अन्य देशों की संप्रभुता का खुला उल्लंघन और उनके नागरिकों के जीवन से खिलवाड़ कर रहा है। ह्वाइट हाउस ने भी इस हमले की निंदा की है। यूरोपीय संघ (ईयू) ने भी इस मामले में ब्रिटेन के साथ एकजुटता दिखाई है।

ब्रिटेन का रूस को अल्टीमेटम-

ब्रिटेन ने पूर्व रूसी जासूस पर कैसे नर्व एजेंट का इस्तेमाल किया गया यह बताने के लिए रूस को मंगलवार तक का अल्टीमेटम दिया है। ऐसा नहीं करने पर ब्रिटेन रूस के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंध के व्यापक कदम उठाएगा। ब्रिटिश प्रधानमंत्री मे ने कहा कि यह सीधा हमारे देश पर हमला है या रूस सरकार घातक नर्व एजेंट किसी के भी हाथ में जाने से रोक पाने का नियंत्रण खो चुकी है।

रूस ने अल्टीमेटम खारिज किया-

रूस के विदेश मंत्री सर्जेई लावरोव ने मंगलवार को ब्रिटेन के अल्टीमेटम को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि अल्टीमेटम देने से पहले ब्रिटेन को खुद अंतरराष्ट्रीय कानूनों का सम्मान करना चाहिए। उसे इस बारे में रूस को आधिकारिक अनुरोध भेजना चाहिए था। उन्होंने कहा कि रूस पूर्व जासूस पर नर्व एजेंट हमले के लिए जिम्मेदार नहीं है। हम इस मामले में रासायनिक हथियार कंवेंशन के अनुरूप ब्रिटेन का सहयोग करने को तैयार हैं।