वॉशिंगटन। टॉयलेट में बैठकर अपने पैरों को एक स्टूल पर रखकर आप कब्ज की समस्या को ठीक कर सकते हैं। छोटे पैमाने पर किए गए एक अध्ययन में यह दावा किया गया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि जिस तरह से हम वर्तमान में कमोड में बैठते हैं, वह मलाशय में एक मोड़ बनाता है, जिससे मल त्याग करना मुश्किल हो जाता है।

मगर, फुटस्टूल का उपयोग करने से शरीर प्राकृतिक बैठने की स्थिति में हो जाता है, जो मलाशय को सीधा कर देता है और मल के माध्यम से गुजरना आसान हो जाता है। ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी के वेक्सनर मेडिकल सेंटर की टीम का कहना है हल्की बाउल प्रॉबलम में स्टूल का इस्तेमाल करना लेक्सेटिव्स और एनीमा के इस्तेमाल की तुलना में सस्ता और प्रभावी तरीका है।

अध्ययन के लिए टीम ने 52 स्वस्थ प्रतिभागियों के चार हफ्ते तक मल त्याग करने पर डेटा एकत्र किया। हालांकि, 44 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे अक्सर मल त्याग करते समय तनावग्रस्त रहते हैं और लगभग एक तिहाई ने कहा कि वे मल त्याग करने में संघर्ष करते हैं। शोधकर्ताओं ने 1,000 से अधिक मल त्याग करने के डाटा को एकत्र किया। दो सप्ताह तक प्रतिभागियों ने स्टूल का उपयोग नहीं किया और दो सप्ताह तक उन्होंने स्टूल का इस्तेमाल किया।

अध्ययन की अवधि के अंत में 70 प्रतिशत से अधिक वयस्कों ने कहा कि स्टूल का इस्तेमाल करने पर मल त्याग करना आसान और तेज था और 90 प्रतिशत ने कहा कि इससे तनाव कम होता है। वेक्सस मेडिकल सेंटर में गैस्ट्रोएंटरोलॉजी, हेपेटोलॉजी और पोषण के सहायक प्रोफेसर और अध्ययन के सह-लेखक डॉ. पीटर स्टेनिच ने कहा कि अध्ययन के निष्कर्ष पर, दो-तिहाई प्रतिभागियों ने कहा कि वे मल त्याग करने के लिए स्टूल का इस्तेमाल करना जारी रखेंगे।