इस्लामाबाद। आतंकियों को पनाह देने के मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की फटकार से तिलमिलाए पाकिस्तानी सेना प्रमुख ने अमेरिका के मुख्य जनरल से रोना रोया है। जनरल कमर जावेद बाजवा ने कहा है कि अमेरिकी निंदा से उनका देश (पाकिस्तान) खुद को छला हुआ महसूस कर रहा है। डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान पर धन लेकर अमेरिकियों से लड़ रहे आतंकियों को पनाह देने का आरोप लगाया था। पाकिस्तान को झूठा और धोखेबाज देश बताया था।


अमेरिकी सेना की सेंट्रल कमांड के मुख्य जनरल जोसेफ वोटल से जनरल बाजवा ने पाकिस्तानी सेना की आतंकवाद के खिलाफ जंग पर चर्चा की। पाकिस्तानी सेना का दावा है कि बातचीत में जनरल वोटल किसी एक मामले का जिक्र नहीं कर पाए जिसके चलते पाकिस्तान की आतंकवाद से लड़ने की मंशा पर सवाल खड़े होते हों। बातचीत में जनरल बाजवा ने कहा, अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान से पूरा पाकिस्तान खुद को छला हुआ महसूस कर रहा है। उसे लग रहा है कि अमेरिका के साथ हर मसले पर दशकों के सहयोग और आतंकवाद के खिलाफ लंबी लड़ाई का कोई मतलब नहीं रहा। उसने जो मुश्किलें उठाईं और नुकसान झेला, सब कुछ बेमानी साबित हुआ। यह बात पाकिस्तानी सेना के बयान में कही गई है।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति ट्रंप के एक जनवरी के ट्वीट के बाद अमेरिका और पाकिस्तान के संबंध सबसे कमजोर स्थिति में पहुंच गए हैं। अमेरिका ने जहां पाकिस्तान को दी जाने वाली सारी सैन्य सहायता रोक दी है, वहीं पाकिस्तान ने उसके साथ खुफिया जानकारी साझा करनी बंद कर दी है। राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने ट्वीट में पाकिस्तान को आतंकवाद से लड़ने के लिए 15 साल में 33 अरब डॉलर (करीब दो लाख दस हजार रुपये) देने की बात कही थी। लेकिन पाकिस्तान ने धन लेकर अमेरिका को केवल धोखा दिया और उन्हीं आंतकियों को पनाह दी जो अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों से लड़ रहे हैं।