टोक्यो। जापानी अंतरिक्ष यात्री नोरिशिगी कैनाई अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के मिशन पर हैं। उन्होंने दावा किया था कि उनकी लंबाई अंतरिक्ष में 9 सेमी (3.5 इंच) बढ़ चुकी है। उन्होंने चिंता जाहिर की थी कि क्या इस बढ़ी हुई लंबाई के साथ वह सुरक्षित रूप से धरती पर वापस लौट पाएंगे या नहीं।

मगर, अब उन्होंने इस अफवाह को फैलाने के लिए माफी मांगी है। 41 साल के अंतरिक्षयात्री ने ट्विटर पर लोगों को इस पूरे घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी थी। उन्होंने ट्वीट किया था कि हमने अंतरिक्ष में आने के बाद अपनी लंबाई नापी थी और वाह, वाह, वाह, मैं वास्तव में 9 सेंटीमीटर (3.5 इंच) तक लंबा हो गया।

उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ तीन हफ्तों में एक पौधे की तरह बढ़ा हूं। हाई स्कूल के बाद से ऐसा कुछ नहीं हुआ था। इससे मुझे थोड़ा चिंता हो रही है कि मैं वापसी की यात्रा के दौरान सोयुज की सीट में फिट हो पाऊंगा या नहीं। यह एक ज्ञात घटना है कि अंतरिक्ष मिशन के दौरान अंतरिक्षयात्रियों की लंबाई बढ़ती है क्योंकि गुरुत्वाकर्षण की अनुपस्थिति में उनकी रीढ़ की हड्डी बढ़ती है।

यह भी पढ़ेंः अमेरिका मैक्सिको की दीवार पर बन रहा है सबसे बड़ा म्यूरल

हालांकि, यह वृद्धि कुछ सेंटीमीटर तक ही सीमित होती है। अंतरिक्षयात्रियों के धरती पर वापस आने के बाद उनकी लंबाई फिर से सामान्य हो जाती है। लेकिन इस मामले में कई सवाल उठाने लगे थे। यूके स्पेस एजेंसी के लिब्बी जैक्सन ने बीबीसी समाचार को बताया कि नौ सेंटीमीटर लंबाई में वृद्धि होना काफी अधिक है। मगर, यह संभव है क्योंकि हर मानव का शरीर अलग होता है।

उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष में लोगों की लंबाई बढ़ती है क्योंकि आपकी रीढ़ की हड्डी अलग होती है। आमतौर पर लोगों की लंबाई लगभग दो से पांच सेंटीमीटर तक बढ़ती है। अलग-अलग लोगों के लिए विकास की एक सीमा होती है, और सभी लोग अलग-अलग प्रतिक्रिया देते हैं। हालांकि, बुधवार को जापानी अंतरिक्ष यात्री नोरिशिगी कैनाई ने माफी मांगी।

यह भी पढ़ेंः ISRO का 'आई इन द स्काई' सैटेलाइट लॉन्च, पाक बौखलाया, जानें खास बातें

उन्होंने कहा कि कप्तान ने उनकी असामान्य वृद्धि के बारे में सवाल उठाए थे और तब उन्होंने जांचा कि उनकी लंबाई में हुई वृद्धि धरती पर उनकी लंबाई से महज 2 सेंटीमीटर ही अधिक थी। उन्होंने ट्वीट किया कि उन्होंने अपनी लंबाई गलत माप ली थी, इसलिए उन्हें इस अफवाह के लिए माफी मांगनी चाहिए। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि उनसे यह गलती कैसे हुई।