मॉस्को। चिकित्सकीय लापरवाही कई बार बड़ी भारी पड़ती है। ऐसा ही एक मामला रूस में सामने आया है, जहां एक महिला के पेट में सर्जिकल क्लैंप मिला है। हैरानी की बात यह है कि बीते 23 साल तक यह उस महिला के पेट में ही रहा। दरअसल एजीता गोबीवा (62) को पेट में तेज दर्द की शिकायत रहती थी।

डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि यह लिवर में प्रॉब्लम होने की वजह से हो सकता है और इसके लिए उन्हें कई वर्षों तक दर्द निवारक दवाएं दी जाती रहीं। गोबीवा का साल 1996 में सिजेरियन ऑपरेसन हुआ था। इस दौरान करीब 6 इंच का एक सर्जिकल क्लैंप उनके पेट में छूट गया था।

उत्तरी ओसेशिया क्षेत्र की रहने वाली गोबीवा ने कहा कि इस दर्द की जड़ का पता करने के लिए उनका एक्स-रे किया गया। तब रेडियोग्राफर ने सोचा कि उनकी जेब में कैंची रखी होगी। मगर, बाद में पता चला कि यह महिला के पेट में थी। इस बात तो जानकर गोबीवा दंग रह गईं।

उन्होंने कहा कि ये दर्द नारकीय रूप से भयानक था। मैं अभी भी दर्द को दूर करने के लिए दवा पर निर्भर थी। हर रात को पेनकिलर खाने के लिए मजबूर थी। बहरहाल, अब गोबीवा इस सर्जिकल क्लैंप को निकलवाने के लिए एक ऑपरेशन की तैयारी कर रही हैं।

उत्तर ओसेतिया-आलानिया क्षेत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस मामले की पुष्टि करते हुए आंतरिक जांच की बात कही है, ताकि इस चिकित्सकीय लापरवाही का पता किया जा सके। प्रवक्ता इरीना एबाइवा ने कहा कि जांच प्रगति पर है। स्वास्थ्य मंत्री व्यक्तिगत रूप से स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।

गोबीवा के पेट से कैंची निकालने के लिए इस ऑपरेशन का पूरा खर्च अधिकारी देंगे। माना जा रहा है कि उन्हें इसके अलावा आर्थिक क्षतिपूर्ति भी की जाएगी।