लंदन। लंदन की रहने वाली एक युवती मिशेल रूनी ने 46 साल बाद अपनी मां को ढूंढ़ निकाला जिसने उसे डस्टबिन में फेंक दिया था। दरअसल उसकी तलाकशुदा मां एनी स्मिथ तब 23 साल की थी और उसने अपना गर्भ छुपाया था। उसने 1968 में अपने पिता के घर के बगीचे में बच्ची को जन्म दिया और बेटी को बीन बैग में भरकर डस्टबिन में फेंक दिया। दरअसल उसका पति से तलाक हुआ था। इस कारण उसके परिजन पति की संतान को भी पसंद नहीं करेंगे यह सोचकर उसने बेटी को फेंक दिया था। उसे पहले से ही दो लड़के थे।

वहां से गुजर रही महिला फे ब्लिस ने उसकी आवाज सुन उसे उठाया। तब मीडिया में उसे डस्टबिन बेबी कहा गया। लेकिन न तो उसकी मां न ही पिता जॉन गुड उसे अपनाने आए। उसे सरे के एक पुलिसकर्मी लेस फुलर और उनकी पत्नी डेफेन ने अपनाया और अपने बच्चों के साथ पाला पोसा। जब मिशेल 21 साल की हुई तो उसने अपनी जन्म देने वाली मां को ढूंढ़ना शुरू किया।

कई वर्षों की तशाश के बाद आखिर 46 की उम्र में उसने एक अपील की मां यदि आप इसे पढ़ रही हैं तो मुझें संपर्क करें। इस अपील को मिशेल की जैविक मां ने पढ़ लिया और दोनों की मुलाकात हो गई। मिशेल खुद अभी दो बच्चों की मां है। मिशेल मां को ढूंढ़ने के अभियान में अपने जैविक पिता को ढूढ़ने में सफल रही थी जिनकी 2013 में मौत हो गई। पिता को उसके जन्म की भी जानकारी नहीं थी।