Naidunia
    Friday, April 27, 2018
    PreviousNext

    बंदर ने जीता सेल्फी से होने वाली कमाई का मुकदमा

    Published: Wed, 13 Sep 2017 09:30 AM (IST) | Updated: Thu, 14 Sep 2017 10:59 AM (IST)
    By: Editorial Team
    monkey selfie 13 09 2017

    सैन फ्रांसिस्को। कैमरे में दांत दिखाते और आंखें चमकाते एक बंदर की मशहूर सेल्फी तो आपको याद होगी। अब उस सेल्फी को लेकर दो साल से चल रहा कानूनी विवाद खत्म हो गया है। समझौते के तहत, तस्वीर पर खुद का अधिकार बताने वाले फोटोग्राफर ने भविष्य में तस्वीरों से होने वाली कमाई का 25 फीसदी हिस्सा इंडोनेशिया में मैकॉक' प्रजाति के बंदरों के संरक्षण का काम करने वाली संस्थाओं को देने पर सहमति जताई

    है। दुनिया में पहली बार जानवर को किसी प्रॉपर्टी का अधिकार मिला है। फोटोग्राफर डेविड स्लेटर के अटॉर्नी ने सैन फ्रांसिस्को की नौंवी सर्किट कोर्ट ऑफ अपील्स को मामला खत्म करने के लिए कहा है। साथ ही, निचले कोर्ट के उसे फैसले को खारिज करने की मांग की, जिसमें कहा गया था कि जानवरों के पास कॉपीराइट का अधिकार नहीं है। हालांकि अपीलीय कोर्ट ने अभी तक कोई फैसला नहीं सुनाया है।

    जानवरों के हित में काम करने वाली एक संस्था के वकीलों ने यह जानकारी दी। स्लेटर के वकील ने इस बारे में कोई जानकारीनहीं दी कि अभी तक इस फोटो से कितनी कमाई हुई है और क्या भविष्य में स्लेटर कमाई का बाकी 75 फीसदी हिस्सा अपने पास रखेंगे।

    फोटो साल 2011 की है, जब फोटोग्राफर डेविड स्लेटर इंडोनेशिया के जंगलों में तस्वीरें लेने पहुंचे थे। तभी वहां मौजूद मैकॉक प्रजाति के बंदर नारूतो ने कैमरे का बटन दबाना शुरू कर दिया और एक के बाद एक अपनी कई तस्वीरें ली। तस्वीर ने लोगों का ध्यान तब खींचा, जब स्लेटर ने विकिपीडिया पर बिना उनकी मंजूरी के फोटो का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया।

    हालांकि विकिपीडिया ने यह दावा खारिज किया और कहा कि तस्वीर पर मालिकाना हक बंदर का है न कि स्लेटर का। इस दौरान पेटा ने इसके बाद स्लेटर पर मामला दर्ज कर दिया।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें