अंकारा। तुर्की के राष्ट्रपति तैय्यिप एर्डोगन ने सीरिया पर अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस की सेना के हमले का स्वागत किया है। इस्तांबुल में अपनी पार्टी के समर्थकों से उन्होंने कहा कि इस अभियान से सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद को संदेश दिया गया है कि उनके नरसंहार को अनुत्तरित नहीं छोड़ा जाएगा। सीरिया के निर्दोष नागरिकों की रक्षा की जाएगी।

अल्जीरिया ने पश्चिम के हवाई हमले की आलोचना की-

अल्जीरिया ने अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन के हवाई हमले की निंदा की है। प्रधानमंत्री अहमद ओउयाहिया ने शनिवार को कहा कि उनका देश केवल हमले पर पश्चाताप जाहिर कर सकता है। कोई कदम उठाने से पहले कथित रासायनिक हमले की जांच के परिणाम की प्रतीक्षा की जानी चाहिए थी।

जर्मनी ने कहा, सीरिया में युद्ध खत्म कराने का प्रयास करेंगे-

फ्रांस के साथ मिलकर जर्मनी, सीरिया में युद्ध विराम के लिए नए सिरे से अंतरराष्ट्रीय प्रयास में जुटेगा। जर्मनी के विदेश मंत्री हेइको मास ने शनिवार को यह कहा। जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका रविवार को लंदन में मिलेंगे और हवाई हमले के बाद के कदम पर विचार करेंगे। नाटो काउंसिल में भी पहल पर चर्चा की जाएगी।

यूएन महासचिव ने धैर्य बरतने की अपील की-

अंटोनियो गुटेरेस ने सभी देशों से वर्तमान खतरनाक परिस्थिति में धैर्य बरतने की अपील की। उन्होंने कहा है कि स्थिति को और बिगाड़ने वाला कोई कदम नहीं उठाएं। इससे सीरिया के लोगों की परेशानी बढ़ेगी।