कुआलालंपुर। मलेशिया ने शुक्रवार को इस बात की पुष्‍टि कर दी कि मॉरिशस के हिंद महासागर द्वीप पर जो एयरक्राफ्ट के विंग का टुकड़ा पाया गया है वह लापता विमान मलेशिया एयरलाइंस फ्लाइट 370 का है। यह मलबा मई में मिला था और तब से आस्‍ट्रेलियन ट्रांसपोर्ट सेफ्टी ब्‍यूरो में विशेषज्ञों द्वारा इसका परीक्षण किया जा रहा था। मलेशिया के परिवहन मंत्री लियो तिओंग लाई ने एक बयान में कहा, ऑस्ट्रेलियाई परिवहन सुरक्षा ब्यूरो के विश्लेषण में पाया गया कि यह टुकड़ा विमान के पंख के निचले हिस्से का है।

इससे महासागर के सुदूर हिस्‍से (ऑस्‍ट्रेलिया के पश्‍चिमी तट) पर विमान की खोज की संभावना प्रबल हो गयी। आज एजेंसी ने बताया कि इंवेस्‍टीगेटर्स ने मलबे पर पार्ट नंबर का उपयोग किया ताकि गुम हुए बोइंग 777 से इसे जोड़ा जा सके। इससे पहले मिले विमान के दो टुकड़े लापता जेट के होने की पुष्टि हुई थी। इनमें से पहले टुकड़ा जुलाई 2015 में रीयूनियन द्वीप के पास, जबकि दूसरा तंजानिया के तट के करीब पेंबा द्वीप के किनारे मिले थे।

8 मार्च, 2014 में कुआलालंपुर, मलेशिया से बीजिंग जाने वाली 239 यात्रियों के साथ एयरक्राफ्ट के लापता हो जाने के बाद से अब तक क्षतिग्रस्‍त हिस्‍सों के अनेकों टुकड़े हिंद महासागर के तट पर पाए गए हैं। इसका पता लगाने के लिए पिछले दो वर्षों से तलाशी अभियान जारी है।