लाहौर। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की सुरक्षा व्यवस्था को बहाल कर दिया है। प्रतिबंधित जमात-उद-दावा प्रमुख सईद को यह सुरक्षा उसके जीवन पर खतरे को देखते हुए दी गई है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर महीने भर पहले सईद की सुरक्षा से सरकारी बलों के जवान हटा लिए गए थे।

पंजाब सरकार के अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ के आदेश पर हाफिज सईद की सुरक्षा में दोबारा पुलिसकर्मी तैनात किए जा रहे हैं। पंजाब सरकार के इस फैसले के बाद सईद ने अपनी सुरक्षा के संबंध में लाहौर हाई कोर्ट में दाखिल अपनी याचिका वापस ले ली है। इस याचिका में सुरक्षा हटाए जाने के पंजाब सरकार के फैसले को चुनौती दी गई थी।

अप्रैल महीने में सुप्रीम कोर्ट ने इस्लामाबाद पुलिस और चार अन्य प्रदेशों के पुलिस प्रमुखों को संदिग्ध चरित्र वाले सारे व्यक्तियों की सुरक्षा वापस लेने का आदेश दिया था। लेकिन यह भी कहा था कि जिन लोगों को वास्तव में खतरा है उन्हें सुरक्षा दी जाए। इस आदेश के बाद पाकिस्तान में 4,610 जवानों को निजी सुरक्षा से वापस बुला लिया गया था।

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक हाफिज सईद घोषित वैश्विक आतंकी है और उस पर अमेरिका की ओर से एक करोड़ डॉलर (66 करोड़ रुपये) का इनाम घोषित है। अमेरिका ने हाल ही में उसके पाकिस्तान में घूमने पर भी सवाल उठाया है। सईद इस समय अपनी निजी सुरक्षा व्यवस्था में रह रहा है।