वाशिंगटन। साल 2016 में अमेरिका में हुए राष्ट्रपति चुनाव में रूसी दखल को लेकर जांच रिपोर्ट गुरुवार को सार्वजनिक की जाएगी। इस मामले की जांच विशेष वकील रॉबर्ट मुलर ने की थी। अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर यह आरोप लगा था कि उन्होंने रूस की मदद से चुनाव जीता था। चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप की टीम रूस के संपर्क में थी।

हालांकि रूस और ट्रंप शुरू से इन आरोपों को खारिज करते रहे हैं। अमेरिका के लॉ डिपार्टमेंट की प्रवक्ता केरी कुपेक ने कहा, 'अटॉर्नी जनरल विलियम बार गुरुवार सुबह मुलर की रिपोर्ट संसद को सौंपेंगे। इसके बाद उसे सार्वजनिक कर दिया जाएगा।'

देशभर में यह मामला उछला था, इसके बाद मामले की जांच की गई थी। मुलर ने 22 महीने की जांच के बाद 24 मार्च को अपनी रिपोर्ट अटॉर्नी जनरल को सौंपी थी। इसके दो दिन बाद जांच की संक्षिप्त रिपोर्ट संसद में पेश की गई थी। इसमें ट्रंप और रूस के बीच साठगांठ का कोई सबूत नहीं मिला था।

बार ने तब कहा था, 'मुलर की अगुआई में हुई जांच में पाया गया है कि ना तो राष्ट्रपति ट्रंप और ना ही उनके किसी सहयोगी ने रूस की सरकार के साथ राष्ट्रपति चुनाव में साठगांठ की साजिश रची थी। मुलर की टीम इस नतीजे पर नहीं पहुंच पाई कि न्याय प्रक्रिया में ट्रंप बाधक बने थे या नहीं।'

मुलर की संक्षिप्त रिपोर्ट जारी होने के बाद से ही अमेरिका में पूरी रिपोर्ट जारी करने की मांग ने जोर पकड़ा था। खासतौर पर विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों ने पूरी रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग की थी।